हाँ हम आजाद हैं।

15 अगस्त आने बाला है। हमारे दिल में 15 अगस्त को फिर से देशभक्ती कि ज्वार हिलोड मारेंगा। वैसे साल में सिर्फ दो दिन हमारे दिल में देशभक्ति का रसधारा वहता है वह है 15 अगस्त और 26 जनवरी। हमारे देश में ये दो दिन रिर्जव रखा गया है देशभक्ति के लिये और सब दिन सब चलता है। देश को आजाद हुये 62 साल हो गये अब हमें सोचना चाहिये कि क्या हम सही मायने में आजाद हैं

हमारे देश में सभी को खुला छुट मिला है अपने आजादि के मानने के लिये। चाहे कुछ भी करें कोई बोलने बाला नही कोई टोकने बाला नही क्यों कि हम आजाद हैं। शहर में तीन - चार बम फटा तो रिस्तेदार मरें उनकों छोड़ कर हम देश वासियों को सिर्फ दो पल के लिये रोष आता है उसके बाद सब नार्मल हो जाता हैं यैसा लगता है जिस शहर में बम फटा वह हमारे देश में नही है किसी और देश में हैं। अगर कोई पकराया तो सरकार के द्वारा केस करने से पहले मानवाधिकार बालें आतंकियों को बचाने के लिये वकिल कर लेते हैं। घटना स्थल पर नेता आते हैं कडे़ शब्दों में निन्दा करतें हैं आतंक को जड़ से खत्म करने का कसम खातें हैं भविष्य में इसका पुनरावृति ना हो इसका वचन देतें हैं नतिजा कुछ दिन बाद फिर से बम विस्फोट। सब भगवान भरोसा क्यों कि हम आजाद हैं।

जब हमारे देश में अंग्रेज थे तब हमारे देश में हर 44 मिनट में एक बलात्कार होता था अब हम जब आजाद हो गयें तो हर 22 मिनट में एक बालात्कार होता हैं। जब अंग्रेज थे तो हर 100 बालात्कारी में से सिर्फ 5 बालात्कारी को सजा मिलता था अब सिर्फ 7 को सजा मिलता हैं क्यों कि हम आजाद हैं। आज के तारिख में हर 3 मिनट में हिन्दुस्तान में किसी ना किसी लड़कियों के छेडखानी का घटना होता है। क्यों कि हम आजाद हैं। हर 12 मिनट में दहेज लोभीयों द्वारा किसी ना किसी महिला को प्रताडीत किया जाता हैं। क्यों की हम आजाद हैं।

आजादी के क्या मायने रह गयें हैं हमारे लिये। भारत माँ को डायन कहने बाले आजाद हैं भारत माँ की नंगी तस्विर बनाने बाले आजाद है। ओसामा के हम शक्ल क साथ में लेकर घुमने बाले आजाद हैं। संसद भवन में आक्रमण करने बाले आजाद है। अफजल और कसाब आजाद है। देशद्रोहियों की फौज आजाद हैं और उनके सर्मथक आजाद है। भष्टाचारी आजाद है। चोर, उच्चके आजाद है। बालात्कारी आजाद है। हमारे देश के सैनिकों को गाली देने बाले आजाद है। समाजिक सदभावना के नाम पद देश को बाटने बाले आजाद है। दंगाई आजाद है। लोकतंत्र के नाम पर इस देश को लुटने बाले नेता आजाद है। आजमगढ़ में माथा टेकने बाले आजाद हैं। बाटला हाउस को धार्मिक स्थल बनाने बाले आजाद है। क्या है हमारे आजादी के जरा सोचिये।
Digg Google Bookmarks reddit Mixx StumbleUpon Technorati Yahoo! Buzz DesignFloat Delicious BlinkList Furl

5 comments: on "हाँ हम आजाद हैं।"

Ganesh said...

eske li doshi kon hamari nasmaj janta................yhi to esh desh ka duebhag hai......eshliye har roj bharat mata khoon ki ashu roti hai ye pute nhi kaput hai namrd neta hai ............./

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बिल्कुल ठीक लिखा है.

Jeet Bhargava said...

हम आजाद हैं देश पर वंशवाद को थोपने,
जात -पांत के नाम पर घृणा के बीज रोपने.

हम आजाद हैं देवताओं के नंगे चित्र बनाने,
वोट के लिए देशद्रोहियों को बिरयानी खिलाने

हम आजाद हैं भेद-भाव की दूकान चलाने ,
सेकुलरिज्म के नाम तुष्टिकरण फैलाने.

हम आजाद हैं देशहित की बली चढाने,
मानवाधिकार के नाम आतंकवाद फैलाने.

:जीत भार्गव,
www.secular-drama.blogspot.com

anil gupta said...

ye bakwash hai hum kabhee aajad huhe hee nahee they angrej gaye to angrejee ke gulam ho gaye, gore angrejoo ke baad kale angrejoo ka sashan aa gaya, meree maang hai jab gulam hee jeena hei to in kale angrejo ke kyo? gore angrejoo ko wapas bula lena chaheeye, desh kee aaj tasveer hee kuch or hotee agar angrej 1947 mai na jaate, subhash, bhagatsingh, sukhdev ya anye kranteekaaree jinhone desh ke liye apne jeevan kee bhee parvhaa na kee agar wo ye jaante kee aajadee ke baad hum gulamee se bhee bhuree istheetee mei aa jayege to wo is mulk aajad karane ke baare mei sochte bhee nahee,

hum apnee jis sanskriti or parampraaoo ko 600 saal mugloo or 200 saal angrejoo ke gulamee mei bhee nahee khoye wo sab 62 saal kee ajadee mei kho diya, jis desh ke logoo ko ye jhoota path padaya jaayega kee aajaadee bina khadag bina dhaal ke milee hei uskee kadar aaj kee peedee kaise kar saktee hai jabkee sachayee ye hei hamaree aajadee me 20 lakh se bhee adheek logo ko apnee balee denee padee hai kitne anath ho baghar huhe wo alag or un sab balidaanoo ko ek aadmee or uskee jhootee aheensha kee balee chada diya gaya.

anil gupta
09911564282