वेलेन्टइन्डे मनाने के फायदे

14 फरवरी को वेलेन्टइन्डे है सभी इसका इन्तजार कर रहें होगें। कुछ विरोध करने के लिये तथा कुछ मनाने के लिये इन्तजार में दिन गिन रहें होगें। तो मैं सोचा क्यों ना सभी को इसका फायदा बताया जाय जिससे वेलेन्टइन्डे मनाने का मजा दुगना हो जायेगा। तथा जो इसके विरोध में हैं उनका भी मुह बन्द हो जायेगा।

फायदा नम्बर 1 - वेलेन्टइन्डे मानाने से विदेश की कई कम्पनियों को बहुत फायदा होता है जैसे गर्भनिरोधक दवाई, कोण्डम, कार्ड, गिफ्ट, चाकलेट, पिंक चड्डी बनाने बाली कम्पनि का बिक्री बढ़ जाने के कारण उनका फायदा होता है। ( हम हिन्दुस्तानी तो हमेशा से दुसरों का ही फायदा देखते है अपना नुक्सान हो जाये तो कोई बात नही)

फायदा नम्बर 2 - लड़को एवम लड़कियों को नया नया साथी मिलता है जिससे उन्हें औफिस, स्कूल, कालेज, इन्सटीट्युट जाने में एक साथी मिल जाता है अगर किसी लड़के पास अपना मोटर बाइक, कार इत्यादी हो तो और लड़कियों को और भी अच्छा रहता है उनका कम से कम एक साल तक का यात्रा का खर्चा बच जाता है फिर अगले साल किसी और के साथ वेलेन्टइन्डे मनाने पर उसका नया बाइक का यात्रा का आनन्द। होटल में खिलाने, सिनेमा दिखाने, माँल घुमाने और खर्च करने वाला एक साथी मिल जाता है इसके बदले में ज्यादा कुछ देना भी नही परता है बस थोडा़ सा ......................................... ।(अन्दर की बात है)

फायदा नम्बर 3 - विदेश से आने वाला करोडो़ रुपय के गुलाब - गुलदस्ता, कार्ड, गीफ्ट इत्यादी को सही सलामत पहूचाने के लिये मजदुरों को कुछ आमदनी हो जाता है। (ये अलग बात है कि इससे हिन्दुस्तान के पिछले साल 7 हजार करोड़ खर्च वेलेन्टइन्डे मनाने के चक्कर में खर्च हो गये| हमारे यहाँ के किसान आत्महत्या करे , 30% जनता आधा पेट खाकर सोये।)

फायदा नम्बर 4 - सरकार को चाहियें कि वेलेन्टइन्डे के दिन नेशनल होलीडे मनाया जाय इसके बदले में 2 अक्टुवर, 15 अगस्त या फिर 26 जनवरी को स्कूल, कालेज कार्यालय को खोल कर रखा जाय जिससे कि वेलेन्टइन्डे के दिन लड़को - लड़कियों को प्रेमालाप करने में किसी तरह का कोई डिस्टरवेन्स ना हो। ( वैसे भी आज कितनो को पता है कि 2 अक्टुबर, 15 अगस्त या 26 जनवरी को क्या हूआ था)

फायदा नम्बर 5 - सभी काँलेज और स्कूल में वेलेन्टइन बाबा के बारें में पढाया जाय और जिससे हमें देश-द्रोह कैसे किया जाता है का शिक्षा मिलेगा। (अखिर प्रेम गुरु बाबा वेलेन्टइन देश-द्रोह के जुर्म में अपना जीवन जेल में काटा है उनके बारे में जानना हमारा परम कर्तव्य है) टिचर ना मिले तो पाकिस्तान से बुलवाया जा सकता है जिससे दोनो देश के सम्बन्ध भी सुधरेंगे वैसे जरुरत नही परेगा पाकिस्तानीयों के कई भाई बन्धु यहाँ रहते हैं।

फायदा नम्बर 6 - सभी समुद्र के किनारे, पार्क में या किसी मैदान में टेम्परोरि टेन्ट का इन्तजाम किया जाना चाहिये जिससे लड़को - लड़कियों को प्रेमालाप करने में किसी तरह का परेशानी नही हो और जो वेलेन्टइन्डे नही मनाते हो उन्हें भी किसी तरह का झीझक ना हो तथा टेन्ट के पास कुछ अस्थाई कोण्डम, गर्भनिरोधक इत्यादी का दुकान रहना चाहिये। जिससे कि वेलेन्टइन्डे मनाने वालों को किसी तरह का तकलीफ ना हो और दुकान चलाने वालों को भी एक दिन के लिये कमाने का जरीया मिल जायेगा।

फायदा नम्बर 7 - गुलाबी चड्डी (महीलाओं को पहनने बाला) बनाने के लिये अभी से सभी फैक्ट्री में कह दिया जाय क्यों कि कुछ पत्रकार उस दिन सभी को चड्डी गिफ़्ट करना चाहती है। देखे यहाँ

फायदा नम्बर 8 - वेलेन्टइन्डे के दिन घर के बडे़ बुजुर्गो का भी कुछ योगदान होना चाहिये उन्हें चाहियें कि वे अपने घर की लड़कियों सुबह जल्दी से उठाकर अच्छा कपडा़ (सेक्सी भी चलेगा) अच्छी तरह मेकअप करके घर से जाने दे जिससे अमीर लड़का (मुर्गा) पटाने में उनकी बच्चीयों को तकलिफ नही हो।

फायदा नम्बर 9 - वेलेन्टइन्डे के दिन अगर मोटा लड़का (मुर्गा) फसे तो जितना जल्दी हो सके उससे शादी कर देना चाहिये जिससे शादी का पैसा बचेगा। (ज्यादा अच्छा कोर्ट मैरेज रहेगा या फिर घर से भगवाया भी जा सकता है समाज में बदनामी का डर दिल से निकाल दें आखिर पैसा जो बचाना है) (जल्दी का शादी सफल नही होता है कोई बात वेलेन्टइन्डे फिर से अगले साल आयेगा नया लड़का (मुर्गा) पकडायेगा)।

फायदा नम्बर 10 - लड़कों को चाहीयों कि इस दिन दिल खोल कर पैसा खर्च करें अगर पैसा ना हो तो किसी से उधार ले सकते है अपने पिताजी के पर्स से भी उधार ले सकतें है, स्कूल, कालेज, ट्युसन का पैसा मार कर खर्च कर सकतें है जो नौकरी करते हैं उन्हें भी खर्च करने में किसी तरह का संकोच नही करना चाहिये आखिर साल में एक बार तो आता है वेलेन्टइन्डे फिर शर्माना कैसा। (आखिर सब खेला पैसा का ही है)

वैधानिक चेतावनी

आपके देस्तरुपी दुश्मन के चलते हो सकता है आपका वेलेन्टइन्डे का मजा फिका पर जाये इस लिये कुछ बातों का ध्यान रखे।

अगर कोई कहे कि वेलेन्टइन्डे का सांस्कृतिक या वैज्ञानिक आधार नही है तो उसे तुरन्त भगा दे हो सकता है वे आपका दुश्मन हो। सांस्कृतिक या वैज्ञानिक क्या लेना देना जब कोई फोकट में कोई आत्मा को तृ्प्त करे तो क्या फर्क परता है सांस्कृतिक या वैज्ञानिक आधार का।

अगर कोई कहें कि वेलेन्टइन्डे के दिन पब में, समुद्र तट, होटल, कॉलेज, पार्क आदि में अश्लील हररकत करके कानून मत तोड़ना इत्यादी समझाये तो उसे कह देना साले यहाँ के नेता, अभिनेता कौन सा कानून का रक्षा करतें हैं सो हम करें।

एक आम आदमी को लड़का-लड़की का अश्लील हररकत से शर्मिन्दगी महसुस करें तो उस ओर ध्यान मत देना और अपने काम में मशगुल रहना। आखिर साल में 1 दिन ही तो मिला अश्लील हररकत करने के लिये।

अगर कोई कहे कि वेलेन्टइन्डे का हिन्दुस्तान से कोई लेना देना नही है तो उसे कह सकते हो मेरा कौन सा हिन्दुस्तान से लेना देना है हम तो जब पैदा हुये थे उसी समय अमेरिका का वीजा माँगे थे कोई नही दिया अब सड़ रहें हैं हिन्दुस्तान में।

चलो अब मनाओ वेलेन्टइन्डे। बिन्दास होकर मनाओ, स्टौक में दो तीन रख कर मनाओ वेलेन्टइन्डे, किसी तरह का कोई परेशानी झीझक हो तो अभी बता दो 14 फरवरी को मैं भी व्यस्त रहूगा।

अहो एक परेशानी है आपको आपके साथ कोई लड़की नही है वेलेन्टइन्डे मनाने के लिये कोई बात नही इधर-उधर नजर दौडा़ओ देखो कई वेलेन्टइन्डे के सर्मथन में कई खडे़ है उनसे उनकी बहन, बेटी, बहू या फिर एक दिन के लिये माँ ही माग लो टी.वी. रिपोर्टर, रेडीयो के र.जे. बाले से भी मांग सकते हो अगर लड़की हो तो और भी आच्छा है उनहें ही साथ चलने को कह सकते हो आखिर एक दिन का ही बात है मैं भी उन्ही लोग से मागने बाला हूँ।

जय बोलो वेलेन्टइन बाबा की
Digg Google Bookmarks reddit Mixx StumbleUpon Technorati Yahoo! Buzz DesignFloat Delicious BlinkList Furl

6 comments: on "वेलेन्टइन्डे मनाने के फायदे"

Umesh Chaturvedi said...

फायदा नंबर ११ ...लड़किओं को एक और फायदा है ...उनके माँ बाप को इतना पैसा खर्च करके शादी करनी पड़ती है तब कहीं जाकर वे नाना नानी बनते हैं...........इसमे तो बस फ्री ...क्युकी १३ फरवरी से ठीक नौ महीने बाद १३ नवम्बर आता है ....जो की बाल दिवस होता है............खूब मनाओ...

Dr. Anil Kumar Tyagi said...

चंदन जी क्या कमाल का सुझाव दिया है आपने इस सुझाव को तो सभी न्यूज चैनलों व रेडियों स्टेशनों(FM)को जरुर भेजें जिससे उनके पत्रकार व आर जे अपनी माँ, बहनों, पत्नियों, जवान बेटियों (वेसे नाबालिक भी चलेगी) को सजाधजा कर बजार में उतार देंगें,(टी वी चेनलों की महिला पत्रकार व रेडियों की आर जे भी कम हसीन नहीं होती वो खुद भी मस्ती मे शामिल हो सकती हैं)तो बेचारे उन लोगों का भला होगा जो वैशालय जाने में झिझक मह्सूस करते हैं या जिनके पास ज्याद धन नही होता देने के लिये 1 गुलाब से ही काम चल जायेगा। आखिर वैलेनटाइन डे व पब समर्थकों की माँ, बेटी, बहन, पत्नी का भी कोइ हक है मजे लेने का श्रीराम सेना या धर्म के ठेके दारों को किसने हक दिया किसी की आजादी छीनने का? वो भी साझदार हैं, वो भी क्यों बेचारी बन कर रहें

हरियाणवी वेलेंटाईन गुरु said...

सभी सुझाव अच्छे है जी इसमे एक बात और जोड ले कही जगह ना मिले तो हरियाणा पधारे यहा सरकार ने सुरजकुंड मेला इसी लिये इस दिन को समर्पित कर दिया है वैसे हरियाणा सरकार पूरे साल वेलेन्टाईन जोडो का ख्याल रखती है आप पूरे हरियाणा मे कही भी हरियाणा सरकार द्वारा चलाये जारहे किसी टूरिस्ट कोम्प्लेक्स मे पूरी आजादी के साथ घंटो के लिये कमरा ले सकते है ,कंडोम इत्यादी वही मिल जाते है . आपको कोई पुलिस , कोई शोहदा तंग नही कर सकता ( जैसे की वोह दुसरे होटल और गेस्ट हाऊस सेज मे छापा मारती रहती है) अब अगर आपके साथ कोई महिला मित्र नही है तो भी आपकी समस्या वहा मे वेटर मैनेजर दूर कर देते है किसी की खाली हुई महिला मित्र से आपकी मुलाकात से लेकर आपके लिये फ़ोन कर बाहर से महिला मित्र मंगाने तक सारे कार्य आसानी से हो जाते है , आपको वहा ढेरो पत्रकार बंधू भी दिख जायेगे.अब इससे ज्यादा आपका वेल एंड टाईम वेल विशर कोई और हो तो बताये जी :)

mahashakti said...

सुझाव वकाई काबिले तारीफ है, आज के दौर में खुल्‍लमखुल्‍ला नंगा नाच करना, आज का फैशन है तो करें हमको क्‍या पड़ी है रोकने की, बाप की कमाई पर ऐश तो सभी करते है, ज्यायातर बाप की कमाई पर ही इस प्रकार के जतन होते है।

pandit visnugupta said...

bahit hi badhiya ...........

Aditya said...

India's Population reached more than 100 Cr.... Is it because of valentines day ????

Guys look at the attempts made by
"iskcon" I feel that that are much better...